मानसून में गोवा मानो पहला पहला प्यार

मानसून का गोवा मानो आपको अभी अभी किसी से प्यार हुआ हो और आप उसी की यादों में खोये रहना चाहते हो। बस ऐसी ही लगता है गोवा इस वक्त। समुंदर और आसमान मानो अपने मिलन की आग़ोश में खोये रहते है। वे अपने बीच किसी और को नहीं आने देना चाहते और किसी की हिम्मत भी नहीं की उनके बीच जा सके। बस दूर से ही उनके मिलन का आनंद लेते रहिए।

ये मेरा गोवा का दूसरा ट्रिप था, इसके पहले मैंने न्यू इयर का गोवा देखा था और तब ही मैंने सोच लिया था की दोबारा तो मैं यहाँ आ रहा हूँ पर अगली बार बरसात के मौसम में आऊँगा। मैंने बहुत सुना था मानसून में गोवा के बार में और अब मैं उसे खुद ही महसूस करना चाहता था।

Goa during Monsoon!

गोवा की तैयारी

Amit Ranjan in Goa during Monsoon!मैंने इसकी तैयारी मई महीने से ही करनी शुरू कर दी थी। मैंने उस वक्त ही अपनी फ्लाइट टिकट Make My Trip से करवा ली और पूरे पैसे 3 EMI में बाँट दिया। पूरे ट्रिप का सबसे ज्यादा खर्चा इसी में होता है, इसलिए मैंने इसका इंतजाम पहले ही कर लिया था। फिर हमने बागा में एक समुंदर किनारे होटल बूक किया। और फिर सारी तैयारी हो चुकी थी, फिर देखते ही देखते वो वक्त भी आ ही गया जिसका हमें इंतजार था। मेरा ये ट्रिप पूरे सात दिन का था जिसमें मैं कोलकाता, पुणे और फिर गोवा निकला। लेकिन मैं यहाँ सिर्फ गोवा की बात करने आया हूँ तो वही करूंगा।

गोवा मे हमारा आगमन

Blenders Pride at Feed Me More15 अगस्त 2018 मैं पुणे से वास्को ट्रेन से आया था, एकदम सुबह सुबह मेरी ट्रेन वास्को स्टेशन पहुँच चुकी थी। फिर मैं वहां से बागा के लिए टैक्सी या टेम्पो पता करने गया तो पता चला की वह से बागा जाने में मुझे ₹900 से ₹1300 का खर्च पड़ेगा। फिर मैंने वही से 5 दिनों के लिए ₹350 प्रति दिन के लिए एक स्कूटी बूक की और फिर वह से ड्राइव करते हुए बागा आ गया।

इस बार मैंने पहले से ही मन बना लिया था की मैं समुंदर का किनारा छोड़ कर कही नहीं भटकूंगा। मेरे साथ दो लोग थे जिनमें से एक (बिपलव) मेरे साथ पहले भी गोवा आ चुका था और दूसरा (शशांक) पहली बार आया था। स्कूटी शशांक के लिए ही मैंने ली थी क्योंकि एक वही था जिसने गोवा पहले नहीं देखा था। इसलिए शशांक दिन में स्कूटी से गोवा भ्रमण करता और रात में हमारे साथ बीच पे घूमता था। इस बार हमने एक और बात सोची थी, की जो हमने अपनी पहली ट्रिप में नहीं किया था वो इस ट्रिप में करेंगे। पहली ट्रिप में हमने किसी क्लब में पैर नहीं रखा था इसलिए इस बार गोवा के दो सबसे मशहूर क्लब में जाना तो बनता ही था। इसलिए एक रात हमने अंजूना के सबसे मशहूर क्लब Curlie’s में बिताई और दूसरी बागा के Britto’s में।

चोरला घाट

Chorla Ghat during Monsoon!

एक दिन हम लोग चोरला घाट भी गए। हमने सुना था की वहां कोई झरना है और बरसात में काफी सुंदर भी दिखता है। बात न तो पूरी तरह सही थी न ही पूरी तरह गलत। चोरला घाट वाकई काफी सुंदर दिखता है बरसात में लेकिन वहाँ कोई एक झरना नहीं है। वहां कई झरने है जो की रास्ते में पड़ते है और सिर्फ बरसात के मौसम में ही आप इनका आनंद उठा सकते है।

बाकी दिन हम कई घंटों तक समुंदर किनारे बैठ कर, हाथ में एक एक जाम लिए उस पल का लुत्फ उठा रहे थे। वक्त कैसे बीत जाता पता ही नहीं चलता था, और कभी कभी लगता था की वक्त थम सा गया है। कभी हल्की तो कभी मूसलाधार बारिश होते रहती थी और कई घंटों तक बारिश नहीं भी होती थी बस ठंडी हवा चलती रहती थी। मन तो बिलकुल न था वहाँ से लौटने का पर अब मानसून और मेरे दोनों का गोवा से जाने का वक्त आ चुका था। कई खूबसूरत यादें, एहसास और गोवा को दिल में लिए हम पटना लौट आए।

अगर आपने बहुत खूबसूरत जगहों को देखा या उनके बारे में सुना होगा तो एक बार मानसून में गोवा जा कर देखिये और खुद ही तय करिए क्या इससे खूबसूरत भी कोई जगह हो सकती है। मैं ये नहीं कहता की नहीं होगी क्योंकि मैंने अभी पूरी दुनिया नहीं देखी पर यकीन मानिए आपको पछतावा नहीं होगा बल्कि एक ऐसा एहसास होगा जिसे आप शब्दों में बयान नहीं कर पाएंगे। मैं भी नहीं कर सकता।

अगर आपका कोई सुझाव या सवाल हो गोवा के बारे में तो मुझे नीचे कमेंट कर के जरूर बताए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *